भद्रलोक का विस्मयकारी मौन

भद्रलोक का विस्मयकारी मौन

0

बरकती के बयान पर अभी बंगाल के बुद्धिजीवी जिस तरह मौन हैं उसी तरह वे धूलागढ़ की सांप्रदायिक हिंसा पर चुप रहे थे। वे मालदा की हिंसा पर भी खामोश थे।

Source : भद्रलोक का विस्मयकारी मौन
Courtesy : Dainik Jagran

LEAVE A REPLY

10 − three =