संपादकीयः दुरुस्त आयद

संपादकीयः दुरुस्त आयद

0

राष्ट्रीय व प्रांतीय राजमार्गों के किनारे शराब की बिक्री प्रतिबंधित करने का सर्वोच्च न्यायालय का आदेश स्वागत-योग्य है। दरअसल, सड़क दुर्घटनाओं के मद््देनजर इस तरह की पाबंदी बहुत पहले लग जानी चाहिए थी।

The post संपादकीयः दुरुस्त आयद appeared first on Jansatta.


Source : संपादकीयः दुरुस्त आयद
Courtesy : Jansatta

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.