सामाजिक दरारें पाटनी हों तो धर्म विशेष के लोगों पर हुए हमलों...

सामाजिक दरारें पाटनी हों तो धर्म विशेष के लोगों पर हुए हमलों को बढ़ा-चढ़ाकर पेश नहीं किया जाना चाहिए

0

प्रधानमंत्री ने अपने दूसरे कार्यकाल की शुरुआत ‘सबका विश्वास’ जीतने के संकल्प के साथ की है। फिर भी चिंता के कुछ पहलू हैं।

Read More : सामाजिक दरारें पाटनी हों तो धर्म विशेष के लोगों पर हुए हमलों को बढ़ा-चढ़ाकर पेश नहीं किया जाना चाहिए
Courtesy : Jagran – Apni Baat

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.